झरने, प्रकृति का एक ऐसा रूप, जिन्हें देखने के लिए लोग दूर-दूर से पहाड़ों-जंगलों में जाते हैं. चीन की एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के दिमाग़ में एक ख़्याल आया कि क्यों न झरने को ही लोगों के पास ले आया जाए. जहां वो रहते हैं, शहरो में.

Guizhou Ludiya Property Management, चीन, झरना, इमारत, इंजीनियरिंग, Guizhou

Guizhou Ludiya Property Management कंपनी ने ये कारनामा किया है. एक गगनचुंबी इंमरात में ही झरना फ़िट कर दिया, कुछ लोगों को ये बेहद आकर्षक लग रहा है, तो कुछ इसकी आलोचना कर रहे हैं.

Guizhou Ludiya Property Management, चीन, झरना, इमारत, इंजीनियरिंग, Guizhou

इसमें कोई दो राय नहीं कि ये देखने में बेहद ख़ूबसूरत लग रहा है, आलोचना इसके बनने की हो रही है. इसे चीन के Guizhou शहर में बनाया गया है. इसकी ऊंचाई 350 फ़ीट है, पानी को री-साइकल करने के बाद उतनी ऊंचाई पर चढ़ाने के लिए चार बड़ी-बड़ी मोटर की ज़रूरत पड़ती है, ऐसा मानना है कि चारों मोटरों को चलाने में प्रतिघंटे उर्जा की लागत सौ डॉलर आती है.

Guizhou Ludiya Property Management, चीन, झरना, इमारत, इंजीनियरिंग, Guizhou

हालांकि इसका एक और पहलू ये है कि ये अब शहर का प्रमुख टूरिस्ट स्पॉट बन गया है. लोग दूर-दूर से इस झरने वाली बिल्डिंग को देखने आते हैं. ये झरना हर वक़्त नहीं चलता, इसे ख़ास मौके पर ही चलाया जाता है.

Guizhou Ludiya Property Management, चीन, झरना, इमारत, इंजीनियरिंग, Guizhou

आपकी नज़र में ये क्या है, इंजीनियरिंग का करिश्मा या उर्जा की बरबादी?